Saturday, 17 November 2012

'कभी'

कभी महसुस  किया है तुमने
मेरे दिल से उठती हुई  तरंगो को ?
कभी सुनने को जी करता है
मेरे दिल की धड़कनों को-----?
जो हमेशा इंतज़ार में रहती है कि
कब तुम्हारे प्यार का तूफान आए
और मुझे साथ बहा ले जाए  !
        कभी सुनाये तुमने
         अपने प्यार के नग्मे
         मेरे दिल की धड़कनों को ?
         जो सदा से तुम्हारे गीत
         गुनगुनाती आ रही है।
कभी जी चाहता है तुम्हारा भी
मुझे देखनेको
मुझसे मिलने को  ?
जो हमेशा तुम्हारी एक नजर के लिए तरसती रही है !

Post a Comment