Wednesday, 21 November 2012

दिल

दिलने मान लिया है या तो सबने मुझसे ये मनवा लिया है कि तुम हो ! यहीं कहीं-----! इसीलिए तो ये दीवाना दिल तुम्हे कोई  आशिक़ के रूप में ढूँढ  रहा है कि  कभी तो धीरे धीरे से तुम मेरी ज़िन्दगीमें आओगे ,दिल को चुराकर मनमें समाओगे !तब बहारों से मै  कहूँगी कि  बहारों फूल बरसाओ,मेरा महबूब आया है।  जब तुम मुझे पहलीबार मिलोगे  तो मै  यही  गाऊँगी  कि कौन हो तुम जो दिल में समाए  जाते हो ,अभी से  तो ये धड़कन मेरे दिलकी तुमसे ये कहती है ---!कि  तुम क्या मिले जानेजाँ , प्यार ज़िन्दगी से हो गया !
        फिलहाल तो लाखो है निगाहोंमें ,ज़िन्दगी की राहोंमें -----पर फिर भी किसी हसींन यार की तलाश है।  क्या तुम ये नहीं मानते हो ?'सांसो की जरुरत है जैसे  जिंदगी के लिए ! सागर किनारे मेरा दिल यही गा  रहा है कि ''तू जो नहीं तो मेरा कोई नहीं है  !''
        ओ मेरे सपनों के सौदागर दिल तो  तुम्हे देखने के पहले ही दे चुकी हूँ अब अगर जान भी माँगोगे  तो दे दूँगी । लोग हमारे मिलने पर गाएँगे  ,''ऐसी दीवानगी देखी  नहीं कहीं '' तुम्हारी जुबॉ  से मुझे क्या सुनने की अपेक्षा होगी ,यही ना  कि ''सोचेंगे तुम्हे प्यार करके नहीं ''क्या तुम नहीं मानते कि कोई न कोई चाहिए प्यार करनेवाला --ये मेरी ज़िन्दगी बेजान लाश है, बरसों से प्यारको तेरी तलाश है। अब कब मुझे ये मेरी तकदीर मिलेगी ,तेरी तस्वीर मिलेगी। दिलने तो एक--दो----तिन कब का  गा  लिया अब तो तुमसे इलु  इलु  सुनना बाकी  है। तुमसे मिलने के बाद मै  ये महसूस करुँगी कि '' तुमसे मिलके ऐसा लगा तुमसे मिलके  अरमा  पुरे हुए  दिलके !''फिर मै  गाऊँगी ,ये लो कागज , ये लो कलम ,मेरे लहू से लिख दो सनम।  तुम्हे अचरज हो रहा है ना !पर क्या करुँ ?ये दिल  तुम बिन कहीं लगता नहीं हम क्या करे----?
       दीवाना दिल बिन तुम्हारे नहीं मानता है इसीलिए तो अभीसे ही अपने साजन के सपने देख रहा है।  ये सुहाने सपने तो मै  तुम्हारे मिलनेसे पहले ही सजा रही हूँ। तुमसे मिलने के बाद तो पता नहीं क्या होगा ?शायद यही सुनने को मिले ---क्या खबर थी जाना तुमसे प्यार हो जायेगा।
       अब तो सिर्फ यही कहे रही हूँ कि आजा आई बहार दिल है बेक़रार, ओ मेरे राजकुमार ---! फिलहाल तो ये दिल तुम बिन कहीं लगता नहीं ---
       मुझे पूरा यकीन है कि तुम एक दिन जरूर आओगे !तुम्हारे आनेसे जब दोस्ती का मौसम छाएगा तब मै  कहूँगी,''तुम लड़के हो,मै  लड़की हूँ ,तुम आए  तो सच कहती हूँ ,आया मौसम  दोस्ती का !''तुम भी तो गाओगे ना !तू मेरी मै  तेरा दुनिया से क्या लेना ---
बस अब इंतज़ार ख़त्म करो।
''आओ हुजूर तुमको सितारों पे ले चलूँ ---''

Post a Comment