Wednesday, 7 November 2012

'अरमान'

एक प्यारासा  अरमान छुपा है दिलमें
तुमसे मुलाकात का !
बात और फिर
ख्वाबों ख्यालात का !
         एक छोटी सी तमन्ना  है मेरी
         बने ख़ुशी भरी ज़िंदगी  हमारी।
          लगे दुनिया प्यारी प्यारी
           ऐसी हो तकदीर हमारी।
एक मुहोब्बत की दुनिया हो
जिसमे सिर्फ तुम और हम हो।
प्यार के गुल हो और
मुहोब्बत की खुशबु हो।
          एक छोटी सी आरज़ू है दिलमें ,
          न हो हमसा  कोई इस जहाँ में  !
          समंदर जितना गहरा प्यार हो
          तुम्हारे और मेरे दिलमें  !
यही मेरा अरमान है -------!

Post a Comment